बेरोज़गार की बिरयानी

बेरोज़गार की बिरयानी बड़ी सफ़ेद है।

कह दिया किसीने तो बेरोज़गार ने अगले दो दिन के मसाले उड़ेल दिए।

यह शायद देखनेवाले का नजरिया था, जो बिरयानी नहीं बल्कि बेरोज़गार को देख रहा था, वर्णा मसाले तो ठीक ही थे।

 

इस बेरोज़गार की बिरयानी एक छोटे से पतीले में बानी थी, और इलायची बिच-बिच में आकर मजा ख़राब करदे इसकी भी शिकायत नहीं थी।

दम्म लगाने के लिए जो आटा रखा था, अब बेरोज़गार सोच रहा था की इसमें तो दो वक़्त का खाना हो जाये, और यही सोचके बेरोज़गार ने बिना दम्म की बिरयानी बना ही दी।

 

बेरोज़गार पहला निवाला खा ही रहा था की किसीने टोक दिया और पूछा, “आज कल क्या कर रहे हो बेरोज़गार भाई?”

तो बोला बेरोज़गार, “सरकार ने कुछ जहाज ख़रीदे है, उन्हें ही देखता रहता हु।”

उन जहाजों को उड़ता देख इस बेरोज़गार की बिरयानी मैं स्वाद तो नहीं आया लेकिन खाते-खाते मनोरंजन जरूर हुआ।

 

“यह बेरोज़गार बड़े शाही शोक रखता है।” कर दिया किसीने ऐलान तो बेरोज़गार भी बोल पड़ा, “या अल्लाह यह दुनिया को शाही बेरोज़गार भी नहीं पसंद।”

अब बेरोज़गार ने “या अल्लाह” क्या कह दिया, पढ़ने वालो ने तो उससे बिरयानी के धर्म से जोड़ दिय।

 

“बड़ी प्यारी खुशबु है।” बोलते हुए दौड़ी आयी एक अम्मा तो मन ही मन बोला बेरोज़गार, “इस बिरयानी में जो खुशबु है वो मसालों की नहीं, ये तो उन सियासतदानो की नाकाबिलियत की है।”

 

फिर लौट पड़ा बेरोज़गार उन ही जहाजों को उड़ता देख और बिरयानी का स्वाद लेते हुए, जब किसीने फिर टोका और कहा की, “जाओ कुछ काम करो !”

तो आया बेरोज़गार को गुस्सा और उत्तर में उसने भी पूछ ही दिया, “में अगर काम करने चला गया तो जाती के नाम पर शहर में आग कौन लगाएगा?”

 

मुस्कुराकर बेरोज़गार अगला निवाला खा ही रहा था की सामने वाली सड़क के गड्ढे के माया जाल मैं उलझ कर एक महिला अपनी स्कूटी से गिर पड़ी,

तो भागे लोग अपना काम छोड़कर उस महिला को उठाने तो यह देख बेरोज़गार आहिस्ते से बोला, “ऐसी मदत हमेशा हो तो समाज पर दाग कभी न लगे।”

 

बेरोज़गार की बिरयानी अब आधी ख़तम हो चुकी थी, और बेरोज़गार अब अपना ध्यान एक बूढ़े गरीब पर लगा चूका था।

बड़ा ही असहाय दिखने वाला गरीब जब बेरोज़गार के पास पंहुचा तो बेरोज़गार ने अपनी आधी बची हुई बिरयानी उससे देदी और एक उल्हन भी दे दिया,

गरीब को नहीं, उन सियासत के रखवालो को, “गरीब को काम, किसान को दाम और सियासत को आराम।”

Share this:

Like this:

Like Loading...
%d bloggers like this: